011 2618 4595

रोजगार और स्वरोजगार युक्त भारत के लिए कार्यशाला का आयोजन

Admin April 26, 2022

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की ओर से ‘स्वावलंबी भारत’ अभियान के तहत राष्ट्रीय राजधानी के आईटीओ स्थित भारतीय मजदूर संघ कार्यालय में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। आरएसएस 11 संगठनों के साथ देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने और बेरोजगारी को दूर करने के लिए एक देशव्यापी अभियान चला रहा है, जिसे ‘स्वावलंबी भारत’ नाम दिया गया है।

इस अभियान के तहत शनिवार (9 अप्रैल 2022) को मजदूर संघ के कार्यालय में आयोजित कार्यशाला में संघ के 11 संगठनों स्वदेशी जागरण मंच, भारतीय किसान संघ, भारतीय मजदूर संघ, लघु उद्योग भारती, ग्राहक पंचायत, सहकार भारती, एबीवीपी, भाजपा, सेवा भारती, वीएचपी और वनवासी कल्याण आश्रम के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। स्वावलंबी भारत अभियान के दिल्ली प्रांत समन्वयक सत्यवान गर्ग ने बताया कि इस अभियान को स्वदेशी जागरण मंच के नेतृत्व में चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि दिल्ली में इस अभियान को गति देने के लिए इस कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें तीन सत्र हुए।

पहले सत्र में स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय सह संयोजक डॉ. अश्वनी महाजन ने अपने संबोधन में बताया कि कैसे अमेजॉन और वॉलमार्ट जैसी विदेशी कंपनियां देश का रोजगार खत्म कर देश को नुकसान पहुंचा रही हैं। दूसरे सत्र में सभी संगठनों के प्रतिनिधियों ने अपनी-अपनी राय और अनुभव साझा किए, जबकि तीसरे सत्र में स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय सहसंगठक श्री सतीश कुमार ने अभियान पर आगामी योजना के बारे में चर्चा की।

गर्ग ने बताया कि इस अभियान के तीन मुख्य उद्देश्य हैं। पहला भारत में कोई भी व्यक्ति गरीबी रेखा से नीचे न हो, दूसरा भारत शत प्रतिशत रोजगार एवं स्वरोजगार युक्त हो और तीसरा भारत की अर्थव्यवस्था 2030 तक 10,000 अरब डॉलर हो।

कार्यशाला में अभियान के सह समन्वयक वीरेंदर नागपाल, दिल्ली की महिला समन्वयक डॉ. सुनीता दहिया, कार्यालय प्रमुख हिमालय, स्वदेशी जागरण मंच के दिल्ली प्रांत प्रचार प्रमुख जसप्रीत सिंह और अन्य लोग उपस्थित रहे।

Share This